Saturday, August 20, 2022
HomeKnowledgeलड़की पर रंग डाला तो करनी पड़ती है शादी, नहीं तो पूरी...

लड़की पर रंग डाला तो करनी पड़ती है शादी, नहीं तो पूरी संपत्ति से धोना पड़ेगा हाथ

हर जगह शादी को लेकर रस्में होती हैं। भारत में ही कई वर-वधू की शादी कई तरह से की जाती है। लेकिन यहां एक ऐसी जगह है जहां अगर कोई किसी लड़की पर रंग डालता है तो वह उसकी दूल्हा बन जाती है। अगर लड़की शादी करने से इंकार करती है तो लड़के को अपनी संपत्ति उसके नाम करनी होगी। मतलब लड़के को गरीब होना है। अब आप सोच रहे होंगे कि भारत में ऐसी कौन सी जगह है जहां इस अजीबोगरीब रिवाज का पालन किया जाता है।

अगर आप किसी लड़की पर रंग लगाते हैं, तो आपका फंसना तय है।

हम बात कर रहे हैं संथाल समाज की। इस समाज की एक लड़की भारत के सर्वोच्च पद पर विराजमान है। जी हां, द्रौपदी मुर्मू इसी समाज से जुड़ी हैं। इस समाज का खान-पान और पहनावा अलग है। यहां तक कि शादी की परंपरा भी बहुत अलग है। यहां अगर कोई युवक किसी कुंवारी लड़की पर रंग लगाता है तो समाज की पंचायत उसकी शादी लड़की से करवा देती है.

लड़की ने शादी से इंकार किया तो होगी कंगाल

अगर लड़की को युवक पसंद नहीं है और वह शादी के प्रस्ताव को ठुकरा देती है, तो लड़के पर रंग लगाने का जुर्माना लगाया जाता है। युवक को अपनी सारी संपत्ति लड़की के नाम देनी है। विवाह समारोह शुरू होने से पहले यहां महुआ, साल और सखुआ के फूल बांटे जाते हैं। इसके बाद शादी की रस्म शुरू होती है।

टोकरी में बैठकर पूरी होती है दुल्हन की मांग

इस समाज में कन्या को टोकरी में बिठाकर मांग पूरी की जाती है। मंगलसूत्र की जगह लोहे की चूड़ी पहनने का रिवाज है। इसे संथाली भाषा में ‘मेधे संकोम’ कहते हैं। यह खुशी की निशानी है।

दहेज से दूर है ये समाज

हमारे देश में जहां आज भी लड़कियों को दहेज दिया जाता है। संथाल समाज में दहेज प्रथा नहीं है। जिससे यहां की लड़कियों को इस कुप्रथा का शिकार नहीं होना पड़ता। इसके साथ ही यहां पैर धोने की भी परंपरा है। घर में जब भी कोई मेहमान आता है तो वह कमल के जल से पैर धोता है। हालांकि भारत के कई गांवों में भी इन रिवाजों का पालन किया जाता है। जब लड़की या दामाद अपने ससुराल जाते हैं तो वहां के नन्हे-मुन्नों के पैर धोते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments